हमीरपुर: भाईयों का प्रेम , छोटे भाई के शव को देख सदमे से हुई बड़े भाई की मृत्यु

0
0

हमीरपुर – उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में बुखार से छोटे भाई की मौत होने के बाद शव देखते ही बड़े भाई ने भी दम तोड़ दिया। एक घर से दो भाइयों की अर्थी निकलने से पूरे गांव में मातम छा गया। गांव के बाहर दोनों के शवों का एक साथ अंतिम संस्कार भी कर दिया गया है।

हमीरपुर जिले के मुस्करा क्षेत्र के खड़ेहीलोधन गांव के रिटायर्ड शिक्षक रामगोपाल वर्मा पिछले चार दिनों से बुखार-खांसी से परेशान थे। परिजन उन्हें राठ कस्बे के एक अस्पताल ले गए, जहां हालत गंभीर होने पर डाक्टरों की सलाह पर उन्हें झांसी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां इलाज के दौरान मौत हो गई। रिटायर्ड शिक्षक का शव पिछले दिनों गांव लाया गया, जहां छोटे भाई का शव देखते ही बड़े भाई ने भी दम तोड़ दिया। एक साथ दो भाइयों की अर्थी घर से निकाली गई तो पूरे गांव में मातम छा गया।

परिजनों ने बताया कि दोनों भाइयों में बचपन से बड़ा प्रेम था। दोनों अपने-अपने परिवार का भरण पोषण करते थे, लेकिन हर रोज दोनों एक साथ बैठकर भोजन करते थे। दोनों के शवों का एक साथ अंतिम संस्कार भी कर दिया गया।
दोनों के शवों का एक साथ अंतिम संस्कार भी कर दिया गया। परिजनों ने बताया कि दोनों भाइयों में बचपन से बड़ा प्रेम था। दोनों अपने-अपने परिवार का भरण पोषण करते थे, लेकिन हर रोज दोनों एक साथ बैठकर भोजन करते थे। परिजनों का कहना है कि रामगोपाल बुखार से पीड़ित थे। वहीं, बड़ा भाई भी कुछ दिनों से बीमार चल रहा था, लेकिन छोटे की मौत का सदमा वह सहन नहीं कर सका।