देश के 434 शहरों और नगरों में कराए गए स्वच्छता सर्वेक्षण के नतीजे केंद्र सरकार ने जारी कर दिए हैं। मध्यप्रदेश देश का सबसे स्वच्छ प्रदेश रहा तो सबसे गंदा शहर उत्तर प्रदेश का गोंडा है। प्रधानमंत्री के मिशन क्लीन इंडिया को  उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, पंजाब और केरल के शहरों से करारा झटका लगा है। ताजा सर्वेक्षण में इनके ज्यादातर शहर अंतिम 100 स्थानों पर रहे।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 में शामिल उत्तर प्रदेश के 62 शहरों में से 41 को अंतिम 100 में स्थान मिला है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी ने 32वां स्थान हासिल करके कुछ लाज बचाई। इस वर्ष जनवरी और फरवरी में हुए इस सर्वेक्षण में देश के कुल 434 शहरों को शामिल किया गया था जिनमें गोंडा अंतिम स्थान पर रहा।

राजधानी लखनऊ 269वें स्थान पर रहा। स्वच्छता के मामले में अलीगढ़, झांसी, कानपुर, सहारनपुर, जौनपुर, इलाहाबाद, अयोध्या और आगरा की स्थिति लखनऊ से बेहतर रही लेकिन पूरे देश में उनका स्थान 145वां या उससे नीचे रहा। सर्वेक्षण में अंतिम 50 स्थानों में से 25 शहर उत्तर प्रदेश के हैं। बिहार के 27 में से 15 शहर अंतिम 100 में रहे। राज्य में साफ सफाई के मामले में बिहारशरीफ सबसे बेहतर रहा लेकिन सर्वेक्षण में उसे 147वां स्थान मिला। पटना 262वें स्थान पर रहा। किशनगंज इस मामले में उससे आगे रहा जिसे 257वां स्थान मिला।

देश के दस सबसे गंदे शहर
उत्तर प्रदेश 
गोंडा: 434
हरदोई: 431
बहराइच: 429
शाहजहांपुर: 426
खुर्जा: 425
बिहार 
बगहा: 432
कटिहार: 430
पंजाब
मुक्तसर: 428
अबोहर: 427
महाराष्ट्र 
भुसावल: 433

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)