अशोक कुमार झा

जिला संवाददाता, रांची। गोड्डा में बन रहे अडाणी पावर प्लांट से बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा होंगे। कंपनी स्थानीय लोगों को रोजगार दे। अपनी जरूरत और लोगों की क्षमता के अनुसार अभी से उन्हें प्रशिक्षित करें। जैसे ही प्लांट चालू होगा तो लोगों को रोजगार मिल जायेगा और कंपनी को प्रशिक्षित लोग मिल जायेंगे। उक्त बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहीं। श्री रघुवर दास ने झारखंड मंत्रालय में अडाणी ग्रुप के प्रबंध निदेशक श्री राजेश अडाणी के साथ मुलाकात के दौरान ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि हाउसकीपिंग, फीटर, वेल्डर, मैकेनिक, इंजीनियर समेत अन्य सभी जरूरतों के अनुरूप लोगों को तैयार कर लें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पावर प्लांट के शिलान्यास कार्यक्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी व बांग्लादेश की प्रधानमंत्री श्रीमती शेख हसीना को भी न्यौता दिया जायेगा। उन्होंने आमंत्रण हेतु उद्योग सचिव श्री सुनील वर्णवाल को बांग्लादेश के राजदूत से मिलने एवं उन्हें पत्र भेजने का निदेश दिया। कंपनी से सीएसआर गतिविधियों के तहत गोड्डा समेत संथाल के जनजातीय बाहुल्य क्षेत्रों में एकलव्य विद्यालय के प्रारूप पर 100 विद्यालय बनवाने की अपील की। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही गरीबी को समाप्त करने का सबसे कारगर एवं प्रभावी तरीका है। लोग शिक्षित होंगे, तो अपने पैरों पर खड़े हो सकेंगे। उनकी सोच में बदलाव आयेगा। वे गरीबी रेखा से ऊपर उठ पायेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य देश की तरक्की है। हमारी प्राथमिकताओं में देश सबसे पहले होना चाहिए।
अडाणी ग्रुप के प्रबंध निदेशक ने बताया कि 1600 मेगावाट उत्पादन की क्षमता वाले अल्ट्रा सुपर क्रिटिकल थर्मल पावर प्लांट के माध्यम से बड़ी संख्या में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार का सृजन होगा।
बैठक में उद्योग सचिव श्री सुनील कुमार वर्णवाल, अडाणी ग्रुप के सीइओ श्री राजेश झा, निदेशक (प्रोजेक्ट) श्री केएस नागेंद्र, हेड कारपोरेट अफेयर (झारखंड) श्री अमृतांशु प्रसाद, साइट हेड (गोड्डा) श्री नरेश गोयल भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)